3

नमस्कार दोस्तों,

अगर आप जानना चाहते है की Web Designingक्या होता है तो इस article  को पूरा पड़े ।

Web Designing कैसा काम करता है ये क्यों जरुरी है और इसके इस्तेमाल करने से हम क्या कर सकते है । ये सब में अपने Article में बताऊंगा ।

Web Designing use करना सही है या नहीं ? इसके द्वारा हम क्या कर सकते है और क्या हमे benifit होगा. ये aticle पड़ने के बाद में दावे से कह साकता हु की आपकी Web Designing से related हर एक query का जवाब मिल जायगा । तो चलिये सुरु करते है ।

हम लोगो में एक बहुत बड़ी कमी है, हम काम की बात पर कभी ध्‍यान नही देते हमारा ध्‍यान हमेशा फालतू की बातों मे लगा रहता है। जीवन में जिस चीज पर ध्‍यान दो वो बढती है, लेकिन हमारा ज्‍यादा ध्‍यान फालतू की चीजो पर ही रहता है। ज्‍यादातर लोगो को कपिल शर्मा के बारे मे पता होगा लेकिन उन्‍हें Resume बनाने जैसी छोटी चीज भी नही पता होगी। तभी मुझे लगता है कि बहुत लोग जीवन में कभी कामयाब नही हो पाते।

हम लोग हजारो रूपये फालतू की चीजे जैसे Movies, Entertainment, Fun मे लगाते है जो कि हमे कभ्‍ाी कुछ वापस नही देगी, लेकिन कभ्‍ाी भी एक 200-300 र  किसी किताब या कुछ सीखने में नही लगते जो कि हमें लाखो में वापस दे सकती है। मेरा ये सब लिखने की वजह ये है कि, आप लेख मे Web Designing के बारे में जानना चाहते है तो इसका मतलब आपका ध्‍यान सही जगह पर नही है। आप Internet पर पैसा तो कमाना चाहते है, लेकिन आपको Web design के बारे में नही पता तो आप कुछ नही कमा सकते। पैसे के पीछे कम भागो और ज्ञान के पीछे ज्‍यादा। जितना ज्‍यादा सीखोगे उतना आप कमा सकते हो। 

चलो कोई बाता नही ! आज मैं चाहता हूँ कि आप फैसला करो की दिन का जितना समय आप TV + गााने को देते हो उससे 1 घण्‍ंटा ज्‍यादा कुछ सीखने काे दोगे। मतलब की अगर आप 3 घंण्‍टे उन फालतू चीजो को देते हो आज से आप 4 घण्‍ंटे कुछ सीखने को दोगे। जरूरी नही की आप web designing ही सीखो, आप कुछ भी सीखो जो आपका मन करे। आगे का लेख उन लोगो के लिये जो Web Designing सीखना चाहते है।

Web Designing क्‍या है ?

जब हम किसी भी Website को बनाते है, update करते है, या plan करते है तो उसको हम Web Designing कहते है।

जैसे कि एक बिल्‍डर का काम बिल्‍डिंग बनाना होता है, उसी तरह से Web Designer का काम website को बनाना होता है।

Web Designing के दो हिस्‍से होते है : Front End Web Design और Back End Web Developer

Front End Web Design:

जैसे कि नाम से पता चलता है कि Front End Web Design Front मे deal करती है, यानि कि उस हिस्‍से से जो कि User (Visitor) को दिख रहा है।

जब हम किसी भी Website को खोलते है तो हमारे सामने जो भी बना आता है वो सब Front End designer का काम होता है। Front End Web Designing से हमारा मकसद सिर्फ website को सुन्‍दर बनाना ही नही होता, web designing के द्वारा हमें ये भी ध्‍यान रखना होता है कि कौन सी चीज कहॉं जुडे जिससे हमारी website पर आने वाले visitor को कोई दिक्‍कत ना हो।

अगर हम इसे एक Car से compare करे तो Front End designer का काम गाड़ी को सुन्‍दर बनाना है, गाड़ी के engine से उसका कोई मतलब नही है, गाड़ी के अन्‍दर की बैटरी Engine वो सब Back End Developer का काम है।

Back End Web Developer

Web Developer website के दिमाग को बनाता है, जैसे कि website पर अगर कोई फार्म भरेगा तो वो किसके पास पहुँचना चाहिये, कोई ID/Password डालता है तो कौन सी profile खुलनी चाहिये ऐसी चीजो से ।

Back End Developer का काम visitor को नही दिखता, लेकिन development के बिना बढिया website नही बन सकती।

Web Designer बनने के लिये क्‍या सीखना पड़ता है ?

एक अच्‍छा Web Designer बनने के लिये Front End Web Design और Back End Web Development दोनो की जानकारी होनी चाहिये।

Front End Design के‍ लिये क्‍या सीखे ?

पहले हम Front End Designing से शुरू करते है।

Photoshop Basics :

जैसे हम घर बनवाने के लिये पहले architecture से नक्‍शा बनवाते है, ठीक उसी तरह Website design करने से पहले हमारे पास एक विचार होना चाहिये कि website कैेसी दिखेगी। कई लोग पूरी website का design बहुत बारिकी से photoshop पर बनवाते है, लेकिन जो experts है वो Photoshop को सिर्फ एक blueprint या prototype बनाने के लिये करते है।

HTML :

HTML का मतलब होता है Hyper Text Markup Language. HTML एक markup language है जिसका प्रयोग Website का ढा़चा बनाने के लिये होता है। HTML एक भाषा है जो कि Code के रूप में लिखी जाती है। HTML सीखन बहुत ही आसान है। एक बार HTML सीख ली तो आप एक सरल सी Static website बना सकते है।

CSS :

CSS का मतलब है Cascading Style Sheet. HTML हमारी website को structure देने के काम आता है और दूसरी ओर CSS हमारे HTML से बने structure को design देने के काम में आती है, ये हमारे design को Style देने के काम आती है।

JavaScript:

यहॉं हम पूरी तरह से programming करना शुरू कर देते है। HTML/CSS हमारी website को बना देती है, लेकिन design को interactive बनाने के लिये JS का प्रयोग होता है। Interactive से मेरा मतलब जैसे आप Facebook पर ऊपर Friend request वाले icon पर click करते हो तो नीचे एक drop down खुल जाता है। JavaScript ये detect करता है कि User ने आपकी website पर क्‍या Action किया है अौर उस action के हिसाब से वो design को बदल देता है। जब किसी website पर ऊपर images घुम रही हाेती है तो इनको JavaScript घुमाता है।

HTML और CSS मिलकर एक बहुत अच्‍छी Static Website बना सकते है। अगर आपने सिर्फ Photoshop, HTML और CSS सीख लिया तो आप किसी IT company मे नौकरी ढ़ुढ कसते है और एक अच्‍छी Website बना सकते है।

Front End Design के लिये क्‍या सीख्‍ो ?

HTML/CSS/JS से आप static website बना सकते है, static website मे hum database entry, Login, Register जैसे features नही बना सकते।

PHP

वैसे तो backend पर बहुत सी भाषायें चल सकती है, लेकिन शुरू में PHP सीखना सबसे आसान है। PHP बहुत ही powerful है और इससे हर feature perform हो सकता है। Facebook PHP पर ही बनायी गयी थी।

PHP सीखना इसलिये भी फायदेमंद है क्‍योकि इससे हम कम पैसो में ही website बना सकते है। इससे हम WordPress पर web site design करन भी सीख सकते है, दुनिया की सबसे ज्‍यादा website और blogs WordPress पर बने है, तो PHP सीखने से आपके लिये WordPress बनाना आसान हाे जायेगा।

DataBase

जब हम Facebook पर ID बनाते है या YouTube पर video देखते है। तो ये सारा data जहॉं store होता है उसे हम Data Base कहते है। सबसे ज्‍यादा प्रयोग होने वाला Data MySQL है इसे सीखने के बाद आप अपनी website पर लोगो का data भी store करवा सकते हो।

MySQL जैसे data base मे कुछ भी store करवाने के लिये PHP जैसी भाषाओ का प्रयोग हो रहा है।

कहाँ से शुरू करे ?

बहुत से लोग ये सवाल पूछते है, मैं आज आपको चरण-दर-चरण बताता हूँ कि क्‍या करना है।

  • HTML सीख्‍ाना शुरू करो।
  • साथ साथ photoshop के basic सीखो, photoshop मे बहुत ज्‍यादा advanced जाने की जरूरत नही है। बेसिर आने चाहिये बस ।
  • जब HTML में अापका हाथ चलने लग जाता है तो CSS सीखना शुरू कर दिया है।
  • रोज HTML / CSS प्रयोग करके कुछ ना कुछ बनाओं।
  • HTML / CSS का अच्‍छी तरह से सीखने के बाद JavaScript सीखना शुरू करो। karo
  • JavaScript को बेसिक जान लो।
  • फिर PHP शुरू करो, और कुछ projects बनाकर देखो।
  • WordPress पर websites बनाना सीख्‍ाो।

Web Designing एक ऐसा हुनर है जिसकी आने वाले समय में बहुत मांग होगी। Expert level पर जाने के लिये मेहनत करी जायेगी। लेकिन मेहनत से डरने वालो के लिये जीवन में सिर्फ गरीबी ही लिखी है।

अगर आपको अभी भी Web Designing के बारे में कोई सवाल है तो नीचे comment करे, और मुझे उसका जवाब भी दे कि “क्‍या आप Web Designing सीखना चाहते है ?”

https://blogginginhindi.in/